1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट कीमत,प्रकार,सब्सिडी, स्पेसिफिकेशन और क्या क्या लोड कितनी देर चल सकता है?

1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट कीमत,प्रकार,सब्सिडी, स्पेसिफिकेशन और क्या क्या लोड कितनी देर चलेगा?

नमस्कार दोस्तों आपका solarpanellagao. com सौर ऊर्जा हिंदी ब्लॉग में आपका स्वागत है।आज मैं आपको इस पोस्ट में बताऊंगा की 1 किलोवाट सोलर पैनल पॉवर प्लांट(1 Kilowatt Solar Power plant price) को लगाने के लिए आपको कितने पैसे खर्च करने पड़ेंगे और 1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट से आपके घर मे क्या क्या चल सकता है।तो चलिये जानते हैं 1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट के बारे में सबकुछ।

1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट की पूरी जानकारी-


दोस्तों किसी भी सोलर पॉवर प्लांट या सोलर पॉवर सिस्टम की कीमत उसके प्रकार और ब्रांड के आधार पर तय होती है।1 किलोवाट सोलर पॉवर प्लांट(1 Kilowatt Solar Power plant) या सोलर पॉवर सिस्टम के भी तीन प्रकार(टाइप) होते हैं।जैसे-1.ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर सिस्टम 2.ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर सिस्टम 3. हाइब्रिड सोलर पॉवर सिस्टम।जहाँ जिसको जैसी जरूरत होती है वहाँ पर उसी प्रकार का सोलर पॉवर प्लांट इंस्टाल किया जाता है।किसी भी सोलर प्लांट का पहला काम सौर ऊर्जा को बिधुत ऊर्जा में बदलकर आपके घर के लोड को चलाना है और दूसरा सार्वजनिक पॉवर ग्रिड को सोलर पॉवर सप्लाई करना या शेष सोलर पॉवर से बैटरी को चार्ज करना होता है।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट(1 Kilowatt Off-Grid Solar Power plant)


अगर आपके घर का लोड 800 वाट तक का है तभी आपको 1 किलोवॉट का सोलर प्लांट लगवाना चाहिए।अब बात करते हैं 1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट के बारे में तो 1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट के मुख्य तीन भाग होते हैं-1 किलोवाट सोलर पैनल 2. 1 किलोवाट सोलर इन्वर्टर 3. 12 वोल्ट,150 AH की 2 सोलर बैटरी।आपको बता दें कि ऑफ-ग्रिड सोलर प्लांट को सोलर बैटरी सिस्टम के रूप में जाना जाता है।ऑफ-ग्रिड सोलर प्लांट में पॉवर बैकअप के लिए बैटरी लगी होती हैं।रात में सोलर या ग्रिड सप्लाई ना मिलने पर आपका लोड बैटरी में जमा सोलर पॉवर से चलने लगता है।

बड़े मेट्रो शहरों को छोड़ कर भारत के अधिकतर शहरों,कस्बों आदि में बार-बार पॉवर कट की बहूत समस्या रहती है।इसलिए ऑफ-ग्रिड सोलर प्लांट को ही अधिकतर घरों में लगाया जाता है।जिससे कि सौर ऊर्जा और लाइट दोनों की अनुपस्थिति में आपके घर के लोड बैटरी से चलने लगें।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट स्पेसिफिकेशन-


1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट(1 Kilowatt Solar Power plant) के स्पेसिफिकेशन की बात करें तो 1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट इंस्टाल करने के लिए 250 वाट के 4 सोलर पैनल (250×4=1000 वाट), 1 किलोवाट का ऑफ-ग्रिड सोलर इन्वर्टर,12 वोल्ट 150 ah की 2 बैटरी(150ah×2), 2 जोड़ी MC4 कनेक्टर,30 मीटर की कॉपर की डीसी केवल,20 मीटर ऐसी केवल,100 वर्ग फिट खाली जगह,1 किलोवाट सोलर पैनल को छत पर फिट करने के लिए सोलर स्ट्रक्चर।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की कीमत(1 Kilowatt Off-Grid Solar Power plant price)


1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की कुल कीमत 80,000 रुपये है।इसमें सोलर पैनल,सोलर इन्वर्टर,सोलर बैटरी,तार,पैनल स्ट्रक्चर,की कीमतें शामिल हैं।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की वारन्टी और सरकारी सब्सिडी(1 Kilowatt Off-Grid Solar Power plant Warranty and Subsidy)-


सब्सिडी की बात करें तो ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट पर कोई सब्सिडी नही मिलती है।वारन्टी की बात करें तो इस 1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट में आपको सोलर पैनल की 25 साल की वारन्टी मिलती है,बैटरी की 5 साल की वारन्टी मिलती है और सोलर इन्वर्टर की 5 साल की वारन्टी मिलती है।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट से क्या क्या चल सकता है-


4 एलईडी लाइट,1 टीवी,1 फ्रिज,3 पंखे ये सब एक साथ लगतार करीब 800 वाट का लोड 4 से 5 घण्टे तक आराम से चला सकते हैं।वाकी आपके लोड पर निर्भर करता है कि आप कितने वाट के उपकरण कब और किस समय चलाते हैं।यह समय कम या ज्यादा भी हो सकता है।बस यह ध्यान रखिएगा की आपका लोड 800 वाट से ज्यादा ना हो।अगर किसी समय सोलर पैनल आपके सिस्टम से जुड़े हुए लोड को चलाने में असमर्थ होता है तो बैटरी आपके लोड को चलाने में आपकी हेल्प करेगी।

1 किलोवाट ऑफ-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट एक दिन में कितने यूनिट बिजली प्रति दिन बना सकता है?


भारत की बात करें तो यहाँ 365 दिन में से 300 दिन सूरज के दर्शन होते हैं।गर्मियों के दिनों में सुबह 8 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक बढ़िया धूप रहती है।वहीं सर्दियों के दिनों में सुबह 10 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक बढ़िया धूप मिल पाती है।इस प्रकार अगर हम पूरे साल की कुल एवरेज धूप मिलने की बात करें तो हमें 1 दिन में 5 घण्टे की बढ़िया धूप मिलती है।इस प्रकार अगर आपका 1 किलोवाट का सोलर पॉवर प्लांट है तो 1 किलोवाट सोलर प्लांट(1KiloWatt Solar Plant) 1 दिन में 5 घण्टे(Hour) की बढ़िया धूप में 1KW×5H= 5KWH यानी 5 यूनिट की बिजली बना सकता है।और 1 माह में 30×5KWH= 150KWH की बिजली बनाएगा।


1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट(1 kilowatt On-Grid Solar power plant)


ऑन ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट के मुख्य भाग सोलर पैनल,एमपीपीटी सोलर इन्वर्टर और नेट मीटर होते हैं।ऑन ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट में बैटरियों को नही लगाया जाता है।इसलिए ऑन ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट को ऐसी जगह लगाया जाता है जहां बिजली 24 घण्टे उपलब्ध रहती है।ऐसी जगह पर जहां बिजली 24 घण्टे रहती हैं वहां पर ऑन ग्रिड सोलर प्लांट को बिजली के बिल को कम करने के लिए लगाया जाता है।ऑन ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट को ग्रिड टाई सोलर प्लांट भी कहा जाता है क्योंकि ऑन ग्रिड सोलर प्लांट सीधे सार्वजनिक सरकारी ग्रिड बिजली के साथ जुड़े हुए होते हैं।ऑन ग्रिड सोलर प्लांट से बनने वाली बिजली को आप नेट मीटर द्वारा सरकार को बेच भी सकते हैं।

नेट मीटर एक सोलर उपकरण होता है जो सोलर प्लांट से बनने वाली बिजली को सार्वजनिक ग्रिड पॉवर में भेजने की अनुमति देता है।1 किलोवाट सोलर प्लांट पूरे दिन में लगभग 5 यूनिट बिजली बना देता है।अगर आप सोलर प्लांट से बनने वाली बिजली को खर्च नही करते हैं तब यह सोलर विधुत नेट मीटर के माध्यम से ग्रिड को सप्लाई कर दी जाती है।आपके सोलर प्लांट से जितनी बिजली सरकारी ग्रिड को जाएगी उतनी बिजली आपके नेट मीटर में फीड हो जाएगी।सोलर प्लांट से बनने वाली बिजली को सरकार या प्राइवेट बिजली कंपनी 10 रुपए प्रति यूनिट की दर से खरीदती हैं।आपके सोलर प्लांट से एक माह में जितने यूनिट बिजली सार्वजनिक ग्रिड को जाएगी आप उसका बिजली कंपनी से पैसा ले सकते हैं या उसे अपने अगले बिजली बिल में एडजस्ट करवा सकते हैं।

1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट स्पेसिफिकेशन(1 kilowatt On-Grid Solar power plant Specifications)


1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट के स्पेसिफिकेशन की बात करें तो 1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट इंस्टाल करने के लिए 250 वाट के 4 सोलर पैनल,1 किलोवाट ऑन ग्रिड सोलर इन्वर्टर,1000 वर्ग फ़ीट की जगह,2 जोड़ी MC4 कनेक्टर, 1 किलोवाट सोलर स्ट्रक्चर,कॉपर डीसी केबल 30 मीटर,ऐसी केबल 20 मीटर, छत पर 1 किलोवाट सोलर पैनल फिट करने के लिए GI सोलर पैनल स्ट्रक्चर

1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की कीमत(1 kilowatt On-Grid Solar power plant price)


1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की कीमत 65000 रुपये होती है।इसमें सोलर पैनल,सोलर इन्वर्टर,नेट मीटर,तार,पैनल स्ट्रक्चर,की कीमतें शामिल हैं।ऑन ग्रिड सोलर प्लांट की कीमत ऑफ ग्रिड सोलर प्लांट से कम होती है।

1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की वारन्टी और सरकारी सब्सिडी

कंपनी पूरे 1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट की 5 साल की वारन्टी देती हैं और सोलर पैनल के लिए 25 साल की वारन्टी होती है।ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट पर राज्य सरकारें 30% तक सब्सिडी देती हैं।

सोलर नेट मीटरिंग: 


आप सभी क्षमता के ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट पर नेट मीटर लगा सकते हैं।लेकिन ऑफ ग्रिड सोलर प्लांट पर नेट मीटर लागू नही होता है।

1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट(1 kilowatt Hybrid Solar power plant)


हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट ऑफ-ग्रिड और ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम दोनों का जोड़ होता है। हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट को उन लोगो को लगाने के लिए कहा जाता है जो सार्वजनिक ग्रिड बिजली के बार बार कट-ऑफ से परेशान हैं और सोलर प्लांट से बनने वाली शेष अतिरिक्त बिजली को सरकारी ग्रिड में भी सप्लाई देना चाहते हैं।जिससे कि वह जितनी सौर बिजली सरकारी ग्रिड को दें उसका समायोजन उनके अगले बिजली के बिल में किया जा सके।हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट के मुख्य भाग में सोलर पैनल,हाइब्रिड सोलर इन्वर्टर,सोलर बैटरी,और नेट मीटरिंग शामिल हैं।हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट लगाने के बाद आपके घर का लोड चलाने के लिए इसके तीन स्रोत हैं-सोलर पैनल,सोलर बैटरी,और सार्वजनिक ग्रिड पॉवर।

1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट स्पेसिफिकेशन(1 kilowatt Hybrid Solar power plant Specifications)


1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट स्पेसिफिकेशन की बात करें तो 1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट लगाने के लिए आपको 250 वाट के 4 पैनल(250×4=1000 वाट),1 किलोवाट का MPPT टेक्नोलॉजी वाला हाइब्रिड सोलर इन्वर्टर,12 वोल्ट 150 ah की 2 टॉल ट्यूबलर सोलर बैटरी,1000 sq. ft. की जगह और सभी जरूरी सामान जैसे कॉपर तार,mc4 कनेक्टर,सोलर पैनल स्टैंड आदि।

1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट की वारन्टी(1 kilowatt Hybrid Solar power plant Warranty)

पूरे 1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट की 5 साल की वारन्टी मिलती है।जिसमे सोलर पैनल की 25 साल की वारन्टी अतिरिक्त मिलती है।

1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट पर सब्सिडी और सोलर नेट मिटिरिंग 

1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट और 1 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर पॉवर प्लांट लगाने पर  सरकार 30% सब्सिडी देती है।और 1 किलोवाट हाईब्रिड सोलर पॉवर प्लांट पर नेट मीटिरिंग सुविधा लागू है।

1 किलोवाट हाइब्रिड सोलर पॉवर प्लांट से क्या क्या लोड और कितनी देर चलेगा?


अगर आप 1 किलोवाट हाइब्रिड सोलर पॉवर प्लांट से 800 वाट तक के विधुत घरेलू उपकरण एक साथ चलाते हैं तब आपको इस प्लांट से कुल 3 घण्टे का बैकउप मिलेगा।अगर आप इस प्लांट से 500 वाट तक के घरेलू उपकरण एक साथ चलाते हैं तब आपको इस 1 किलोवाट सोलर प्लांट से 5 घण्टे का बैकउप मिलेगा।आप इस प्लांट से टीवी, फ्रिज,कूलर,पंखा, एलईडी लाइट आदि 800 वाट रेंज के अंदर के सभी उपकरण आप इससे चला सकते हैं।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें