सोलर वॉटर हीटर का काम,प्रकार,लाभ,कीमत और इस पर मिलने वाली सरकारी सब्सिडी?

सोलर वॉटर हीटर का काम,प्रकार,लाभ,कीमत और इस पर मिलने वाली सरकारी सब्सिडी?

सोलर वॉटर हीटर क्या होता है?(What is Solar Water Heater in Hindi?)


सोलर वाटर हीटर(Solar water heater) एक सौर तापीय सोलर उपकरण होता है जिसे सौर ऊर्जा यानी सूर्य की रोशनी से ठंडे पानी को गर्म करने के लिए बनाया गया है।सूरज की रोशनी में पानी को 50℃ से 70 ℃ तक पानी गर्म करने की क्षमता होती है।सोलर वाटर हीटर को आप पानी को स्वच्छ और पीने योग्य बना सकते हैं और सर्दियों में नहाने से लेकर कपड़े को धोने ,बर्तनों को धोने ,खाना बनाने साफ सफाई में आदि रोजमर्रा के काम मे उपयोग में ला सकते हैं।Solar water heater में लगाने के लिए बस आपको एक बार पैसे खर्च करने होते हैं।एक बार सोलर वाटर हीटर आपकी छत पर लगने के बाद आप इससे हमेशा के लिए फ्री में गर्म पानी ले सकते हैं।मतलब न आपको गैस सिलेंडर खरीदना है ना बिजली का बिल देना है। क्योकि Solar water heater एक सौर तापीय उपकरण है जो सौर ऊर्जा से चलता है और सौर ऊर्जा भगवान का हमारे लिए वरदान है जो हमें फ्री यानी मुफ्त में मिली है।

सोलर वाटर हीटर कैसे काम करता है?(how does solar water heater works in hindi?)


अब बात आती है कि आखिर सोलर वाटर हीटर कैसे काम करता है तो चलिए जानते हैं दोस्तों सौर ऊर्जा को बहूत से लोग केवल सोलर पैनल(Solar panel) से बिजली बनाने को ही जानते है लेकिन सौर ऊर्जा से सोलर पैनल द्वारा विधुत ऊर्जा में बदलना और सौर ऊर्जा को सोलर थर्मल द्वारा सौर तापीय ऊर्जा में बदलना दो अलग अलग टेक्नोलॉजी होती हैं।सोलर वाटर हीटर को सोलर थर्मल वाटर हीटिंग सिस्टम(solar thermal water heating system) भी बोला जाता है।सोलर थर्मल का उपयोग हम सौर ऊर्जा से पानी को गर्म करने के लिए करते हैं जो हमारे सोलर वाटर हीटर में लगता है। सोलर थर्मल पैनल भी दो प्रकार के होते हैं 1.फ्लैट प्लेट सोलर वाटर हीटर 2.इवेक्यूट ट्यूब कलेक्टर solar water heater आप इन दोनों में से कोई भी चुन सकते हैं।

जब सोलर थर्मल पर सूरज की रोशनी यानी सौर ऊर्जा पड़ती है तब सोलर थर्मल में मौजूद भरा पानी गर्म होने लगता है और गर्म पानी धीरे धीरे ऊपर सोलर वाटर हीटर में लगे टैंक में स्टोर होने लगता है।सोलर वाटर हीटर में लगा पानी स्टोरेज टैंक इंसुलेटेड और स्टेनलेस स्टील से बना होता है।जिसमे पानी काफी समय तक गर्म बना रहता है और solar water heater के इंसुलेटेड स्टोरेज टैंक में कभी जंग भी नही लगती है।सोलर वाटर हीटर में अलग से बिजली से चलाने का ऑप्शन भी होता है अगर 2 दिन से ज्यादा बादल होने पर आप इसे बिजली से चलाकर पानी गर्म कर सकते हैं।दरअसल solar water heaterमें लगे सोलर थर्मल सूरज की रोशनी को अवशोषित करके पानी को गर्म करते हैं।

सोलर वाटर हीटर कितने प्रकार के होते हैं?(types of solar water heater in hindi?)


भारत मे सबसे ज्यादा दो प्रकार के सोलर वाटर हीटर को खरीदा जाता है 

1.ईटीसी सोलर वाटर हीटर(ETC SOLAR WATER HEATER)

2. एफपीसी सोलर वाटर हीटर(FPC SOLAR WATER HEATER)

1.ईटीसी सोलर वाटर हीटर क्या होता है? What is Etc solar water heater in hindi?


ईटीसी सोलर वाटर हीटर का अंग्रेजी नाम Evacuated Tube Collector (ETC) होता है हिंदी में इसे इवेक्युएटेड ट्यूब कलेक्टर बोलते हैं।ETC Solar water heater  में पानी को सूरज की रोशनी से गर्म करने के लिए इवेक्युएटेड वैक्यूम ट्यूब(Evacuated Vaccum tube) का इस्तेमाल किया जाता है ।यह वैक्यूम ट्यूब बनाने के लिए बोरोसिलिकेट ग्लास का यूज़ किया जाता है।खाली ट्यूब(Evacuated tube) में दो बोरोसिलिकेट ग्लास जिनके बीच गैप रखा जाता है जो इन्सुलेशन का काम करते हैं।इन्सुलेशन का मतलब यह होता है कि खाली टयूब के अंदर बहे रहे गर्म पानी को जल्दी ठंडा नही होने देते हैं।

ट्यूब पर जब सूरज की किरण पड़ती है तब यह ट्यूब के बाहरी पारदर्शी ग्लास से अंदर पास होकर आंतरिक  ग्लास/ट्यूब के बाहरी हिस्से से टकराती है।आंतरिक ग्लास की ट्यूब पर काले रंग(बोरोसिलिकेट) की कोटिंग होती है क्योंकि काला रंग और किसी रंग की तुलना में अधिक गर्मी को अवशोषित करता है।जब सूरज का प्रकाश इन टयूब पर पड़ता है तो टयूब की नलियों में भरा ठंडा पानी सूरज की रोशनी से गर्म होने लगता है।जैसा कि आपको पता होगा कि गर्म पानी ठंडे पानी की अपेक्षा हल्का होता है ,इसलिए यह ऊपर उठता है और इंसुलेटेड स्टोरेज टैंक में स्टोर होने लगता है उसी समय ठंडा पानी जो भारी होता है टैंक से नीचे की और आकर तल में जमा हो जाता है।अब  स्टोरेज टैंक में ऊपर की और जमा गर्म पानी को पाइप के द्वारा अपने किचन या बाथरूम की टंकी से जोड़कर इसे उपयोग के लिये निकाल लिया जाता है।इस तरह गर्म पानी को अपने आप ऊपर बहने की घटना को प्राक्रतिक थर्मोसेफॉन सिद्धांत(thermosiphon principle) कहते हैं।इस प्रकार के सोलर वाटर हीटर ज्यादा सेल होते हैं और अधिकतर घरों में लगते हैं।

2. एफपीसी सोलर वाटर हीटर क्या होता है?What is FPC Solar water heater in hindi?


एफपीसी सोलर वाटर हीटर का अंग्रेजी नाम Flat Plate Collectors(FPC) होता है हिंदी में इसे फ्लैट प्लेट कलेक्टर बोलते हैं।FPC Solar water heater  एक चोकोर बॉक्स की तरह होता है जिसके ऊपर एक कड़ा ग्लास चढ़ा होता है जो टेम्पर्ड ग्लास का काम करता है।बॉक्स की चादर कॉपर धातु से बनी होती है और जिसपर काले रंग की कोटिंग का लेप होता है जो अधिक गर्मी को अवशोषित करने में सहायता करता है।इस कॉपर के धातु के बक्से में तांबे की पाइप खड़ी होती हैं जो ऊपर और नीचे से 2 क्षैतिज(Horizontal) पाइपों से जुड़ी होती हैं।जिन्हें हेडर कहते हैं।जब ठंडा पानी नीचे पाइप से कलेक्टर(कॉपर/ताबें के बॉक्स) में प्रवेश करेगा तब यह पानी ताबें के कलेक्टर में गर्म होगा और गर्म पानी ऊपर इंसुलेटेड स्टोरेज टैंक में भरने लगेगा।FPC Solar water heater  हीटर की लाइफ ज्यादा और कीमत ईटीसी सोलर वाटर हीटर से ज्यादा होती है क्योकि यह धातु से बने होते हैं।

उपरोक्त दोनों वाटर हीटर पंप के साथ और बिना पंप के साथ भी आते हैं।बहूत से ऐसे क्षेत्र या देश होते हैं जहाँ पानी की क्वालिटी बहूत खराब होती है पानी मे उच्च क्लोरीन आदि पाया जाता तब ऐसी जगह के लिए पानी को ट्यूब से टैंक तक ले जाने के लिए सोलर वाटर हीटर पंप बाले लगाए जाते हैं।ऐसी जगह पर थर्मोसेफॉन सिद्धांत काम नही करता है।

कौन सा सोलर वाटर हीटर खरीदना चाहिए?(Which solar water heater is the best in hindi?)


अगर आप भारत मे रहते हैं तो आपको ETC Solar water heater लगवाना चाहिए क्योंकि ये सस्ते होते हैं और इनका रखरखाव कम होता है।यह ठंडे क्षेत्रों में भी अच्छा काम करते हैं। जहां तापमान उप-शून्य हो जाता है।जहाँ पानी खारा होता है वहां वैक्यूम ट्यूब की अंदर की नलियों में नमक जम जाने के कारण इनकी नियमित तेजाब से सफाई की जाती है।ईटीसी सोलर वाटर हीटर में लगी कोई कांच की ट्यूब अगर टूट जाती है तो इसे आप दूसरी लगवा सकते है यह ज्यादा महेंगी नही होती है। अधिकतम सोलर वाटर हीटर की एक वैक्युम ट्यूब या कलेक्टर की कीमत 300 से 500 रुपये होती है।वैसे यह कलेक्टर मजबूत बनाये जाते हैं।

अगर आप FPC Solar water heater   लगवाते हैं तो आपको यह  ईटीसी सोलर वाटर हीटर से महँगा पड़ता है। यह बहूत ठंडे क्षेत्र में भी काम कर सकते हैं लेकिन इसमे लगा एन्टी फ्रीज़ सिस्टम इसको महँगा बनाता है।एफपीसी सोलर वाटर हीटर की लाइफ ETC Solar water heater  से ज्यादा होती है क्योकि FPC Solar water heater तांबे की धातु से बने होते हैं और यह मज़बूत होते हैं।लेकिन अगर एफपीसी सोलर वाटर हीटर के बॉक्स के ऊपर लगा ग्लास टूट जाता है तो यह थोड़ा महँगा पड़ता है।

अगर आप घर के लिए  Solar water heater  लगवाना चाहते हैं तो आप बिना पंप बाले सोलर वाटर हीटर लगवाएं बशर्ते पानी मे उच्च क्लोरीन की मात्रा न हो ।बिजनेस उद्देश्य जैसे होटल,स्विमिंग पूल ,रेस्टोरेंट आदि के लिए आप पंप बाले सोलर वाटर लगवाएं।

सोलर वाटर हीटर का रखरखाव (what is Solar water heater maintenance in hindi)


वैसे  Solar water heater  को कम से कम रखरखाव की जरूरत होती है, लेकिन आप चाहते हैं कि आपका सोलर थर्मल वाटर हीटर लंबी अवधि तक अच्छा काम करे, तो इसकी आपको अच्छे देखभाल करनी होगी। हम आपको कुछ आसान टिप्स बता रहे हैं जिससे आप इसकी अच्छे देखभाल कर सकते हैं 

1. solar thermal water heating system की देखभाल हर तीन  से पांच साल में करना आवश्यक होती है। पाइप, टैंक या कलेक्टर में किसी भी प्रकार के पानी के रिसाव को देखभाल करते रहें। दरअसल, ऐसी जगहों में लीकेज होना आम बात होती है। तार और तार कनेक्शन भी ढीले न हों, समय पर चैक करते रहें। सोलर थर्मल पैनल पर भी धूल नहीं जमनी चाहिए। समय समय पर धूल की सफाई कर दें जितना सोलर थर्मल साफ होगा उतना धूप को ज्यादा अवशोषित करेगा। इंसुलेशन में अगर कोई क्रेक दिखे, तो जल्द ही बदलवा लें। 

2. सोलर थर्मल वाटर हीटिंग सिस्टम  में पानी के लगातार बहने के कारण हीटर जंग लग सकती है वैसे सोलर वाटर हीटर जंगरोधी धातु से बने होते हैं फिर भी उपयोग के बाद और जब यूज नहीं किया जा रहा हो, तब भी इसे हमेशा सूखा ही रखें। बहुत ठंडे क्षेत्र में सोलर वाटर हीटर में पानी जमने लगता है यह भी एक बड़ी समस्या है, यह सोलर वाटर हीटींग सिस्टम के कार्य को रोक देता है। हीटर फ्रीज न हो,  इसके लिए थर्मल कलेक्टर और पाइप को नियमित सुखा करके रखना चाहिए।सोलर वाटर हीटर में एन्टी फ्रीज़ सिस्टम भी लगवा सकते हैं जिससे पानी सिस्टम में जमेगा नही और अच्छे से कलेक्टर से टैंक में बहेगा।

3. सोलर कलेक्टर की नलियों के अंदर लगातार काफी दिन तक पानी बहने के बाद उसमें नमक,काई और धूल जम जाती है इसलिए नियमित इसकी अंदर सफाई करते रहें।

4. अगर इसमें कोई पाइप या टंकी खराब या टूट जाता है तो मरम्मत के लिए या तो तुरंत इसकी कंपनी निर्माता या अपने क्षेत्र के लोकल सर्विस प्रोवाइडर डीलर से संपर्क करें ।

5. अगर कोई कलेक्टर ग्लास टूट जाता है तो उसे अपने डीलर या निर्माता कंपनी से बोलकर जरूर बदलवा लेना चाहिए।

6. solar thermal water heating system सिस्टम में रगड़ या स्क्रैच की प्रॉब्लम से सुरक्षा के लिए उसे हर  दो से तीन साल में पेंट करवाते रहें। 

सोलर वाटर हीटर की कीमत और साइज(solar water heater price list and sizes)


सोलर वाटर हीटर की कीमत उसके प्रकार(ETC OR FPC), ब्रांड,क्षमता पर निर्भर करती है।सोलर वाटर हीटर घरेलू उपयोग के लिए 100 लीटर से लेकर  500 लीटर की क्षमता बाले आते हैं,बिजनेस या कॉमर्शियल इस्तेमाल के लिए 5000 लीटर तक होती है।Solar water heater की कीमत 12500 रुपये से लेकर 100000 रुपये तक होती है।


मॉडल(Model)क्षमता(capacity)प्राइस(Price)(rs)
ETC 100L SOLAR HEATER100 L13500 rs
FPC 100L SOLAR HEATER100 L25000 rs
ETC 200L SOLAR HEATER200 L22500 rs
FPC 200 L SOLAR HEATER200L47500 rs
ETC 300L SOLAR HEATER300 L34500 rs
FPC 300 L SOLAR HEATER300 L67990 rs
ETC 500 L SOLAR HEATER500 L55000 rs
FPC 500 L SOLAR HEATER500 L105000 rs


सोलर वाटर हीटर कैसे पैसों की बचत करता है?(How do solar water heater save Money or reduce electricity bill? )


आसान शब्दों में कहें तो आप अगर भारत मे रहते हैं तो आप अपने घर में  पानी को पूरे साल गर्म करने के लिए गैस,बिजली,कोयला,आदि का जरूर इस्तेमाल करते होंगे फिर चाहें आप पानी को पीने के लिए गर्म करते हों या नहाने या धोने के लिए।लगभग आप पूरे साल में करीब 5000 रुपये या उससे ज्यादा पानी को गर्म करने के लिए कर देते हैं।लेकिन अगर आप 100 लीटर का ETC solar water heater लगवा लेते हैं जिसकी कीमत करीब 13500 रुपये होती है तब आप जो हर साल 5000 रुपये पानी को गर्म करने के लिए देते हैं बच जाते हैं।इसका मतलब हुआ कि आपका सोलर वाटर हीटर 3 साल में फ्री हो जाता है।कोई भी solar water heater  निर्माता कंपनी सोलर हीटर की 5 साल की वारन्टी देती हैं।

सोलर वाटर हीटर के लाभ/फायदे(Advantage/benefits of solar water heater ?)


  • solar water से पानी हर समय तुरंत गर्म पानी मिलता है बस टंकी खोलो गर्म पानी आपकी बाल्टी में अन्य वाटर हीटर में पानी गर्म करने में करीब 5 मिनट लग जाते हैं।
  • सोलर वाटर हीटर लगाने में बस एक बार इन्वेस्टमेंट होता है।कुछ साल के बाद यह फ्री हो जाता है।
  • solar water heater किसी प्रकार की जहरीली गैस नही छोड़ता है जिससे हमारे वातावरण को नुकसान पहुंचे।
  • सोलर वाटर हीटर में किसी प्रकार का कोई खतरा नही होता है जैसे अन्य वाटर हीटर में होता है जैसे आग लग जाना,करेंट मारना आदि।
  • solar water heater आपकी खाली पड़ी छत पर एक जगह लग जाते हैं।
  • सोलर वाटर हीटर लगाकर आप पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में अपना योगदान दे सकते हैं क्योंकि 70% बिजली कोयला से बनाई जाती है जिससे निकलने बाला धुंआ और गैस हमारे वातावरण को गन्दा कर रहे हैं।
  • solar water Heater लगवाकर आपकी बिजली पर निर्भरता खत्म हो जाती है।
  • सोलर वाटर हीटर का मेंटेनेंस बहूत कम होता है।बस 3 से 4 साल में आपको उसकी सफाई करनी होती है।
  • सोलर वाटर हीटर हर मौसम में अच्छा काम करते हैं solar water heater में एक बार पानी गर्म होने के बाद इसमें पानी 24 से 48 घण्टे तक गर्म बना रहता हैं। अगर 2 दिन से ज्यादा बादल रहते हैं तब आप इलेक्ट्रिसिटी से भी इसे चला सकते हैं।
  • भारत की राज्य सरकार सोलर वाटर हीटर(solar water heater)लगाने पर सब्सिडी(subsidy) भी दे देती हैं।

भारत मे सोलर वाटर हीटर बनाने बाली टॉप कम्पनियां।(Best Solar water heater manufacturer companies in india)


  • SunRay Solar water Heater.
  • Waaree Energies Ltd.
  • Tata Power Solar Systems Ltd
  • Icomm Tele Ltd
  • Inter Solar System – Best Solar water heaters manufacturing company in India
  • Vikram Solar Pvt. Ltd.
  • Racold Solar Water Heating System
  • IndoSolar Ltd
  • Kotak Urja Pvt. Ltd
  • MBSL – Solar water heaters manufacturing company
  • Photon Energy Systems Ltd.
  • IndoSolar Ltd


भारत मे सोलर वॉटर हीटर पर कोई सब्सिडी है?(subsidy on solar water heater in india?)


सोलर वाटर हीटर लगाने के लिए राज्य सरकारें सब्सिडी भी देती हैं।सभी राज्य की सब्सिडी की प्रक्रिया और राशि अलग अलग होती है।जैसे हिमांचल सरकार 200 लीटर तक के सोलर वाटर हीटर पर 30% की सब्सिडी देती है।उत्तराखंड सरकार बिजली के बिल में 100 रुपये प्रति माह की छूट करती है।यूपी सरकार अभी कोई सब्सिडी नही दे रही है।अधिक जानकारी के लिए आप भारत सरकार की रिन्यूवल एनर्जी की वेबसाइट पर जाकर पता कर सकते हैं।

धन्यवाद।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें